भविष्य में होने वाले परिक्षण

विषरण (डेटॉक्स)

ये जानने के लिए की हम अपने शरीर को कैसे विष मुक्त बनायें, हमे बड़े और विस्तृत विषहरण परक्षणों की आवश्यक्ता है। हम सारे स्वयंसेवकों (वालंटियर्स) के सहयोग प्राप्त करने की आशा करते हैं- (पुरुष, नारी, बूढ़े, जवान, मोटे, दुबले, शाकाहारी, मांशाहारी)। और ये देखने के लिए की प्रत्येक वर्ग अलग अलग-नियम (प्रोटोकॉल्स) का पालन करके किस मात्रा में विष हरण करता है, हमे इन परीक्षणों की कीमत अदा करनी होगी। जब हम अपने शरीर की विष-सम्बंधित प्रक्रियाएं विस्तार से समझ जायेंगे, तब हर एक व्यक्ति अपने खान-पान का देख भाल स्वयं कर सकता है। और वे किस प्रकार के परिणाम की आशा करते हैं ये भी उन्हें समझ आ जाएगा। ये परिक्षण काफी मेहेंगी हैं और अबतक की नहीं गयी हैं क्यूंकि किसी को ये रिसर्च (research) करने में दिलचस्पी नहीं थी। अगर हम अपने पूंजी को जोड़ें तो हम इन परक्षणों के लिए पैसे जमा कर सकते हैं। इससे सबको फायदा पहुंचेगा, और सब सीख ले सकते हैं।

प्रार्थना और मैडिटेशन

प्रार्थना और मैडिटेशन के सकारात्मक प्रभावों पर अभी अध्ययन करना बाकि है। ये देखने के लिए की प्रार्थना और मैडिटेशन की शक्तियों का लड़ाई-फसाद कम करने, मनोदशा सुधारने, और बिमारियों को ठीक करने जैसे सकारात्मक कामों में कितना असर पड़ता है, भविष्य में परीक्षणों का आयोजन किया जा सकता है। इसे कई परिस्थियों में, अलग-अलग संगठनो में किया जा सकता है।

शक्तियों पर अंकुश (energy control)

मनुष्य के शरीर की शक्तियों को एक जगह केंद्रित करने के प्रभावों पर अभी पूरी तरह से अध्ययन नहीं किया गया है। इसमें भारतीय योगा (Indian Yoga), चीनी की गोंग (Chinese Qi Gong), जापानी रेइकी (Japanese Reiki) जैसे नियम भी शामिल हैं।

खान-पान (Diet)

खान-पान और सेहत के बीच का सम्बन्ध समझने के लिए परिक्षण किये जा सकते हैं – खासकर हमारे शरीर में जमा जीवविषों से सम्बधत। यहाँ ये सवाल उठता है की कोन सा पानी हमारे शरीर को जीवविष रहित रखने के लिए बेहतर है।

होलिस्टिक स्वास्थ्य कार्य (HOLISTIC HEALTH PRACTICES)

जब होलिस्टिक स्वस्थ्य क्रियाएं (holistic health practices) लोकप्रिय होते जा रहे हैं, इनमें लोगों के जीवन को आरोग्य और खुशहाल बनाने की शक्तियों के बारे में हम अज्ञात हैं। पौराणिक चीनी अवषधि (traditional Chinese medicine) में बहुत से तरीके हैं जो सेहत अच्छा करने और बिमारियों को ठीक करने की शक्ति रखते हैं। परन्तु इसके बारे में कुछ ही लोग जानते हैं और इनका प्रयोग ना के बराबर करते हैं। हम ऐसे परिक्षण तैयार कर सकते हैं जिससे इन सशक्त औषधियों के शक्ति को पेहचान सकें और इनके परिणामों को पूरी दुनिया के साथ बाँट सकें। अगर हम एकुपंक्चर (acupuncture) के बारे में बात करें तो अब इसके प्रभावशाली होने की बात पे अब कोई सवाल नहीं उठता। जबकि इसके प्रक्रिया के बारे में अभीतक कोई वैज्ञानिक वर्णन नहीं दिया गया है। इसी तरह अगर हम कोई उपचार के असर के बारे में बात करें तो सब लोग इसको तुरंत ही अभ्यास में ले आते हैं और इसके फायदे देखते हैं, चाहे इसका कोई वैज्ञानिक वर्णन दिया गया हो या नहीं। दुनिया भर में होलिस्टिक तरीकों के साथ भी यही बात लागू होती है।

ऐसे परिक्षण करने के लिए हमे आप लोगों की मदद चाहिए। हमे आपके साथ की ज़रूरत है – पैसे और स्वयंसेवकों का सहयोग, दोनों चाहिए।

एक नया दौर आ रहा है – कृपया इस क्रांति में हमारा साथ दें

इस बात की शंका न रखें की एक बेहतर दुनिया बनाना मुमकिन नहीं है

एक साथ हम कोई भी समस्या का हल निकाल सकते हैं